दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी, Dadu Meri Ulyaru Jikudi Hindi lyrics

Rate this post

Dadu Meri Ulyaru Jikudi Hindi lyrics

एल्बम टका छन ता टक टका
गीत दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी
भाषा उत्तराखंडी गडवाली
गायक नरेंदर सिंह नेगी
गीतकार नरेंदर सिंह नेगी
संगीत नरेंदर सिंह नेगी
 
Dadu Meri Ulyaru Jikudi Hindi lyrics
 
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी ! छम छ्मले
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी ! छम छ्मले
दादू मेरी सोंज्यड़या च काकू दादू मेरी गेल्या च हिलांसी ! छम छ्मले
दादू मेरी सोंज्यड़या च काकू दादू मेरी गेल्या च हिलांसी ! छम छ्मले
 
छायो मी बाजी को पियारो छायो मी मांजी को लाडूलो
छायो मी बाजी को पियारो छायो मी मांजी को लाडूलो
छो मेरा गोला को हंसुलो दादू रे बोजी को बिटूलो ! छम छ्मले
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी !छम छ्मले
 
दादू मिन रोसल्युन का बीच बैठी की बांसुली बजैनी
दादू मिन रोसल्युन का बीच बैठी की बांसुली बजैनी
दादू मिन चैरी की चुलाखूयूँ चलखदा हुंयु चुला देखिनी ! छम छ्मले
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी !छम छ्मले
 
देखि मिन म्वआरयूँ को रुनाट दादू रे कौथिग का थाल
देखि मिन म्वआरयूँ को रुनाट दादू रे कौथिग का थाल
दादू रे बे पोतली देखिनी लेन मिन रेशमी रुमाल ! छम छ्मले
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी !छम छ्मले
 
दादू वो रूडी का कौथिग सुयुन्द सी सैंडा माँ की कूल
दादू वो रूडी का कौथिग सुयुन्द सी सैंडा माँ की कूल
दादू वो सोंज्यड़यों की टोल व्हेग्यायी तिम्ला को फूल ! छम छ्मले
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी !छम छ्मले
 

दादू रे उडमिला बुरांसुन लुछीन भोरों की जिकुड़ी
दादू रे उडमिला बुरांसुन लुछीन भोरों की जिकुड़ी

दादू रे किन्गोडयों का बीच देखदी मिन हेन्स्दी फ्युन्लाड़ी ! छम छ्मले
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी !छम छ्मले

झुमकी सी तुड तुड़ी मंगरी मखमली हेरी से अंगडी
झुमकी सी तुड तुड़ी मंगरी मखमली हेरी से अंगडी
हिल्वार्यों हल्क्दी धोपैली घुन्कदी लोंक्दी कुयेडी ! छम छ्मले
दादू मेरी उल्यारू जिकुड़ी दादू मी पर्वतों को वासी !छम छ्मले
दादू मेरी सोंज्यड़या च काकू दादू मेरी गेल्या च हिलांसी ! छम छ्मले
 
Thankyou….🙏🙏🙏
 

Leave a Comment