First Class Lyrics in Hindi,फर्स्ट क्लास – Kalank (Arijit Singh)

Rate this post

First Class Lyrics in Hindi

फिल्म कलंक (2019)
गीत फर्स्ट क्लास
भाषा हिन्दी
गायक अरिजीत सिंह और नीति मोहन
गीतकार अमिताभ भट्टाचार्य
संगीत प्रीतम
स्टारकास्ट वरुण धवन, और कियारा आडवाणी

 

मेरे होठों से धुआंधार निकलती है जो बोली
जैसे जैसे बन्दूक की गोली
मेरे तेवर में है तहज़ीब की रंगीन रंगोली 
जैसे जैसे हो ईद में होली
मेरे होठों से धुआंधार निकलती है जो बोली
जैसे जैसे बन्दूक की गोली
मेरे तेवर में है तहज़ीब की रंगीन रंगोली
जैसे जैसे हो ईद में होली
 
मेरे जीवन की दशा, थोड़ा रास्तों का नशा
थोड़ी मंजिल की प्यास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
हाँ कसम से
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
 
पल में तोला, पल में मासा
जैसी बाज़ी वैसा पासा
अपनी थोड़ी हट के दुनियांदारी है
करना क्या है चाँदी सोना
जितना पाना उतना खोना
हम तो दिल के धंधे के व्यापारी हैं
 
मेरी मुस्कान लिए कभी आती है सुबह
कभी शामें उदास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
हाँ कसम से
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
 
हो…सबके होठों पे चर्चा तेरा
बंटता गलियों में पर्चा तेरा
यूँ तो आशिक हैं लाखों मगर
सबसे ऊँचा है दर्जा तेरा
 
मेरी तारीफ़ से छुपती फिरे बदनामियाँ मेरी
जैसे जैसे हो आँख मिचोली
मेरे तेवर में है तहज़ीब की रंगीन रंगोली
जैसे जैसे हो ईद में होली
 
मेरे जीवन की दशा, थोड़ा रास्तों का नशा
थोड़ी मंजिल की प्यास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
बाकी सब फर्स्ट क्लास है
हाँ कसम से
बाकी सब फर्स्ट क्लास है, हाँ
 
Thankyou….🙏🙏🙏

Leave a Comment