गजरा, Gajra Hindi Lyrics

Rate this post

Gajra Hindi Lyrics

गीत गजरा,
भाषा गडवाली
गायक संजय भंडारी और अनिशा रांगड़
गीतकार संजय भंडारी
संगीतकार शैलेन्द्र शैलू

नजर लागली मेरी सरूली
नजर लागली मेरी सरूली
अरे ठोकर लगली लुकारि बुरी नजरा, नजरा
हाए रे सरू,
मेरी सरूली मुंड बांदी गजरा
मेरी सरूली मुंड बांदी गजरा

नजर लगली, हाए नजर लगली
नजर लगली, हाए नजर लगली
लगण दी नजर खर्चा मेरा हजार, ओहो सैयां
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा

शैलू ऑन द म्यूज़िक

चुन्नी कु पल्ला तेरू कमर कसी, कमर कसी
जीकुडा भीतर तेरी मुखुडि फंसी
चुन्नी कु पल्ला तेरू कमर कसी, कमर कसी
जीकुडा भीतर तेरी मुखुडि फंसी

गुल खिलौण्या हवेगे, हाए ये सरू
ऑर्डर लगौण्या हवेगे, हाए ये सरू
गुल खिलौण्या हवेगे, हाए ये सरू
ऑर्डर लगौण्या हवेगे, हाए ये सरू
हाए रे सरू

मेरी सरूली मुंड बांदी गजरा
हाए रे सरू मुंड बांदी गजरा
मुंड बांदी गजरा

छोड़ मेरु पीछा छोड़ मेरी चुनरी
खुटी लच मोड़ी जाली हाए कमरी
छोड़ मेरु पीछा छोड़ मेरी चुनरी
खुटी लच मोड़ी जाली हाए कमरी

देखणु च भगवान हाए रे सैयां
तू कतग गुणवान हाए रे सैयां
देखणु च भगवान हाए रे सैयां
तू कतग गुणवान हाए रे सैयां
हाए रे सैयां

आहो सैयां
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा

क्या बात है

हिल वाली जुत्ती पैरी उच्च ऐडी
लाल वाली कुर्ती पैरी, ओहो तेरी
हिल वाली जुत्ती पैरी उच्च ऐडी
लाल वाली कुर्ती पैरी, ओहो तेरी

दुनिया की सिक्का सॉरी हाए रे सरु
किला कदी सीना जोरी हाए रे सरू
दुनिया की सिक्का सॉरी हाए रे सरु
किला कदी सीना जोरी हाए रे सरू
रे सरू

मेरी सारूली मुंड बांदी गजरा
हाए रे सरू मुंड बांदी गजरा

कानूडी मां बाली मेरी चमकदार
सौदा पता भुली जादां दुकानदार
कानूडी मां बाली मेरी चमकदार
सौदा पता भुली जादां दुकानदार

नोट मां तोली जालु हाए रे सैयां
दिल  कु सौदा ना कर हाए रे सैयां
नोट मां तोली जालु हाए रे सैयां
दिल  कु सौदा ना कर हाए रे सैयां

आहो सैयां
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा

पैजी बाजी चूड़ी बजी हवेग्यों रे पागल
जरा सी आंखी मारी हवेग्यों रे घायल
पैजी बाजी चूड़ी बजी हवेग्यों रे पागल
जरा सी आंखी मारी हवेग्यों रे घायल

जैन करी शरम वेका फुटया करम
कै घरी लिनी सरू त्वैन जनम
जैन करी शरम वेका फुटया करम
कै घरी लिनी सरू त्वैन जनम
हाय रे सरू

मेरी सारूली मुंड बांदी गजरा
हाए रे सरू मुंड बांदी गजरा

काली काली आंखी पलक झपकी जरा
तेरू नौ मन ही मन मां छपिगे मेरा
काली काली आंखी पलक झपकी जरा
तेरू नौ मन ही मन मां छपिगे मेरा

नथुली दिलै दिया, हाए रे सैयां
कमी पूरी करी दिया हाए रे सैयां
नथुली दिलै दिया, हाए रे सैयां
कमी पूरी करी दिया हाए रे सैयां
हाए रे सैयां

आहो सैयां
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा
हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा

मेरी सरूली मुंड बांदी गजरा
हाए रे सरू मुंड बांदी गजरा

हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजारा
मेरी सारूली मुंड बांदी गजरा

हाए रे सैयां न छेड़ बीच बजार
हाए रे सरू मुंड बांदी गजरा

Thankyou…..

Leave a Comment