जब कोई बात बिगड़ जाए , Jab Koi Bat Bigad Jai Hindi Lyrics

Rate this post

Jab Koi baat Bigad Jaye Hindi Lyrics

फिल्म जुर्म (1990)
गीत जब कोई बात बिगड़ जाए
गायक कुमार शानू और साधना सरगम
गीतकार इंदिवार
संगीत राजेश रोशन

 

Jab Koi Bat Bigad Jai Hindi Lyrics

जब कोई बात बिगड़ जाए , जब कोई मुश्किल पड़ जाए
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
जब कोई बात बिगड़ जाए जब कोई मुश्किल पड़ जाए
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
ना कोई है, ना कोई था ज़िन्दगी में तुम्हारे सिवा
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा.
 

हो चाँदनी जब तक रात देता है हर कोई साथ
तुम मगर अन्धेरों में ना छोड़ना मेरा हाथ
हो चाँदनी जब तक रात देता है हर कोई साथ
तुम मगर अन्धेरों मेंना छोड़ना मेरा हाथ
जब कोई बात बिगड़ जाए जब कोई मुश्किल पड़ जाए
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
ना कोई है, ना कोई था ज़िन्दगी में तुम्हारे सिवा
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा

वफ़ादारी की वो रस्में निभाएँगे हम तुम कसमें
एक भी साँस ज़िन्दगी कीजब तक हो अपने बस में
वफ़ादारी की वो रस्में निभाएँगे हम तुम कसमें
एक भी साँस ज़िन्दगी की जब तक हो अपने बस में
जब कोई बात बिगड़ जाए जब कोई मुश्किल पड़ जाए
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
ना कोई है, ना कोई था ज़िन्दगी में तुम्हारे सिवा
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
 
दिल को मेरे हुआ यकीं हम पहले भी मिले कहीं
सिलसिला ये सदियों का कोई आज की बात नहीं
दिल को मेरे हुआ यकीं हम पहले भी मिले कहीं
सिलसिला ये सदियों का कोई आज की बात नहीं
जब कोई बात बिगड़ जाए जब कोई मुश्किल पड़ जाए
तुम देना साथ मेरा, ओ, हमनवा
ना कोई है, ना कोई था ज़िन्दगी में तुम्हारे सिवा
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
 
जब कोई बात बिगड़ जाए जब कोई मुश्किल पड़ जाए
तुम देना साथ मेरा, ओ, हमनवा
ना कोई है, ना कोई था ज़िन्दगी में तुम्हारे सिवा
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवा
 

Thankyou 🙏🙏🙏

Leave a Comment