जनम जनम, Janam Janam Hindi Lyrics

Rate this post

Janam Janam Hindi Lyrics

गीत जनम जनम तक रूलों साथ
भाषा कुमाउनी
गायक संदीप सोनू और माया उपाध्याय
गीतकार हेमन्त बिष्ट और नितेश बिष्ट
संगीतकार नितेश बिष्ट

 

Janam Janam Hindi Lyrics

मैं कभै नी छोड़ूँ सुवा तेरो हाथ
जनम जनम तक रूलों साथ
मैं कभै नी छोड़ूँ सुवा तेरो हाथ
जनम जनम तक रूलों साथ

जनम जनम तक
जनम जनम तक तेरो मेरो साथ
मैं कभै नी छोड़ूँ सुवा तेरो हाथ
जनम जनम तक रूलों साथ

मन मा बसी गे छ यो तेरी अन्वार
आँखो मा रिटी रे छ रूप की बहार
मन मा बसी गे छ यो तेरी अन्वार
आँखो मा रिटी रे छ रूप की बहार
रूप की बहार

त्वेले रंगी हाली म्यारा दिन और रात
जनम जनम तक रूलों साथ
मैं कभै नी छोड़ूँ सुवा तेरो हाथ
जनम जनम तक रूलों साथ

पिरीत का पाँखों लै दूर उड़ी जूलों
अगाश का तारों कै संग में ली जूलों
पिरीत का पाँखों लै दूर उड़ी जूलों
अगाश का तारों कै संग में ली जूलों
संग में ली जूलों

स्वीणों है ले स्वाणी तेरी मेरी मुलाक़ात
जनम जनम तक रूलों साथ
मैं कभै नी छोड़ूँ सुवा तेरो हाथ
जनम जनम तक रूलों साथ

जनम जनम तक
जनम जनम तेरो मेरो साथ
मैं कभै नी छोड़ूँ सुवा तेरो हाथ
जनम जनम तक रूलों साथ

Thankyou…..

Leave a Comment