लुका छुपी, Luka Chuppi Hindi Lyrics

Rate this post

Luka Chuppi Hindi Lyrics

Luka Chuppi Hindi Lyrics : रंग दे बसंती फिल्म से लुका छुपी गाने के बोल। . आर. रहमान, लता मंगेशकर द्वारा गाया गया। प्रसून जोशी ने गीत लिखे हैं और संगीत . आर. रहमान ने दिया है। गाना वहीदा रहमान और आर.माधवन पर फिल्माया गया है

फिल्म रंग दे बसंती 2006
गीत लुका छुपी बहुत हुई
भाषा हिंदी
गायक ए आर रहमान, लता मंगेशकर
गीतकार प्रसून जोशी
संगीतकार ए आर रहमान
स्टारकास्ट आमिर खान, शरमन जोशी, सिद्धार्थ नारायण, सोहा अली खान, आर.माधवन, वहीदा

 

Luka Chuppi Hindi Lyrics

लुका छुपी बहुत हुई सामने आजा ना
कहां-कहां ढूंढा तुझे
थक गइ है अब तेरी मां
आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना

आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना

क्या बताऊं माँ कहां हूं मैं..
यहाँ उड़ने को मेरे खुला आसमां है
तेरे किस्सों जैसा भोला सलोना जहां है
यहां सपनो वाला
मेरी पतंग हो बेफिक्र उड़ रही है माँ
डोर कोई लुटे नहीं बीच से काटे ना

आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना

तेरी राह तके अंखियां
जाने कैसा-कैसा होए जिया
तेरी राह तके अंखियां
जाने कैसा-कैसा होए जिया
धीरे-धीरे आंगन, उतरे अंधेरा
मेरा दीप कहां

ढलके सूरज करे इशारा
चंदा तू है कहां
मेरे, चंदा तू है कहां

लुका छुपी बहुत हुई सामने आजा ना
कहां-कहां ढूंढा तुझे
थक गई है अब तेरी माँ
आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना

आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना

कैसे तुझको दिखाऊं यहाँ है क्या..
मैंने झरने से पानी माँ तोड़ के पिया है
गुच्छा गुच्छा कई ख्वाबों का
उछल के छुआ है

छाया लिये भली धुप यहां है
नया नया सा है रूप यहां
यहां सब कुछ है माँ फिर भी
लगे बिन तेरे मुझको अकेला..
हो ओ.. ओ..

आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना
आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना
आजा सांझ हुई मुझे तेरी फिकर
धुंधला गयी देख मेरी नज़र आजा ना

हो रेग रेग सस सरे रेरे रेरे रेरे
रेग रेग सस सप मप गम गरे
रेग रेग स सस, सऩ सप म गम गरे
संसं संसं नरें संन धन धप मप गम
पध नसं नसं नध नध पम गरे

आजा, साँझ हुई, मुझे तेरी फ़िकर
धुँधला गई देख मेरी नज़र, आजा ना
आजा, साँझ हुई, मुझे तेरी फ़िकर
धुँधला गई देख मेरी नज़र, आजा ना
आजा, साँझ हुई, मुझे तेरी फ़िकर
धुँधला गई देख मेरी नज़र, आजा ना

Thankyou…..

Leave a Comment