मोरी मोरी की मांड पेल्या, Mori Moriki Maand Pelya Hindi Lyrics

Rate this post

Mori Moriki Maand Pelya Hindi Lyrics 

एल्बम तुम्हारी माया मा 2001
गीत मोरी मोरी की मांड पेल्या
भाषा गडवाली
गायक नरेंद्र सिंह नेगी
गीतकार नरेंद्र सिंह नेगी
संगीतकार नरेंद्र सिंह नेगी
स्टारकास्ट नरेंद्र सिंह नेगी

 

Mori Moriki Maand Pelya Hindi Lyrics

मोरी मोरी की मांड पेल्या. पेल्या
मोरी मोरीकी मांड पेल्या. पेल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या, निभेल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या. निभेल्या
मोरी मोरी की मांड पेल्या

खड़ी उकाल छई ज्वा कटेगे,खड़ी उकाल
खड़ी उकाल छई ज्वा कटेगे
रै उंदार घिलमुंडी खैल्या, खैल्या
रै उंदार अब घिलमुंडी खैल्या, खैल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या

धुंवांणयाँ हुक्का डब्बा खंखरा को, धुंवांणयाँ हुक्का
धुंवांणयाँ हुक्का डब्बा खंखरा को
नयु जमानो ऐगे लुकैल्या,लुकैल्या
नयु जमानो ऐगे लुकैल्या, लुकैल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या

पुन्य चंदो नात्यों का कांधों को, जु पुन्य चंदो
पुन्य चंदो नात्यों का कांधों को
नौना ब्वार्यों की सैल्या, सैल्या
नौना ब्वार्यों की सैल्या, सैल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या

तुमरी खुद अब कैथें नी लगणी, तुमरी खुद
तुमरी खुद अब कैथें नी लगणी
तुम खुदेणा छाँ खुदेल्या, खुदेल्या
तुम खुदेणा छाँ खुदेल्या, खुदेल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या

अब यूँ घरो बल कैन नी बूढ़ेंण, अब यूँ घरो मां
अब यूँ घरो बल कैन नी बूढ़ेंण
तैं बूढ़्यांण दगड़ै लिजैल्या, लिजैल्या
तैं बूढ़्यांण दगड़ै लिजैल्या, लिजैल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या,निभेल्या

 

मोरी मोरी की मांड पेल्या, पेल्या
जख तलक वे साकू निभेल्या, निभेल्या
मोरी मोरी की मांड पेल्या, पेल्या

Thankyou….

Leave a Comment