नाराज किले छे, Naraz Kile Che Hindi Lyrics

Rate this post

Naraz Kile Che Hindi Lyrics

गीत नाराज किले छे
भाषा गडवाली
गायक केशर पंवार और अनिशा रांगड़
गीतकार केशर पंवार
संगीतकार राकेश भट्ट

 

ना बोदी बच्यांदी मुखु फ़िरेंदी के
ना बोदी बच्यांदी मुखु फ़िरेंदी के
बोल दे लठ्याळी नाराज किले छे
किले छे रूसाई नाराज किले छे
हे मेरी भगवती नाराज किले छे

हा जग्वाली जग्वाली ब्याली में थकी गे
हा जग्याली जग्याली ब्याली में थकी गे
कल्याडी त माची में ब्याली में थकी गे
इले छू नाराज ब्याली किले नई ऐ
में यानि छू नाराज ब्याली किले नई ऐ

लेपी जालू खान्दू बल लेपी जालू खान्दू
लेपी जालू खान्दू बल लेपी जालू खान्दू
द्वाली ग्यु थै व्याली में त्वे से माफ़ी चान्दु
द्वाली ग्यु थै व्याली में त्वे से माफ़ी चान्दु
मेरी भग्यानी चौकोरी तू माफ़ करिदे
बोल दे लठ्याळी नाराज किले छे
हे मेरी भगवती किले रूसाई छे

हे मेरी भगवती नाराज किले छे
ईला छू नाराज व्याली किले नई ऐ

हा घुघुति की घोली बल घुघुति की घोली
हा घुघुति की घोली बल घुघुति की घोली
लुकी छुपी औयू में घर छूटी बोली
लुकी छुपी औयू में घर छूटी बोली
दिन भर त जाग जागनी में स्याम घर ये
ईला छू नाराज व्याली किले नई ऐ
यानी छू नाराज व्याली किले नई ऐ

घिंघारू का कांडा बल घिंघारू का कांडा
घिंघारू का कांडा बल घिंघारू का कांडा
घर में नीछे कुई बोई बाबू थई डांडा
घर में नीछे कुई बोई बाबू थई डांडा
घर की जमीदारी बहत कभी त नी ऐ
अब भी बता यार नाराज त नी ऐ
हे मेरी भगवती नाराज त छे

जाली गोली फाट बल जाली गोली फाट
जाली गोली फाट बल जाली गोली फाट
झूटी वादा सूडी में हुन्दू कबलाट
झूटी वादा सूडी में हुन्दू कबलाट
अब अब बदली ग्यनि पैली इनु नी छे
अब नई छू नाराज बात समझी गे
अब नई छू नाराज बात समझी गे

अब भी बता यार नाराज त नी छे
अब नई छू नाराज बात समझी गे
अब भी बता यार नाराज त नी छे
अब नई छू नाराज बात समझी गे

Thankyou….

Leave a Comment