प्रेम के साथ दीवानगी -प्रेम कहानी, Pyaar Ke Saath Divanagi Love Story,

Rate this post

 प्रेम के साथ दीवानगीप्रेम कहानी

यह प्रेम कहानी (love story) एक लड़की की है। वह लड़की रोज शाम को टहलने के लिए अपने नाज़िद के मैदान में जाया करती थी। एक दिन उसे एक लड़का उस मैदान में दिखा। वह लड़का उस मैदान में छोटे बच्चो के लिए गुम्बारे दे रहा था। इसको देख कर लड़की खुद को ना रोक सकी। वह तुरंत ही लड़के के पास पहुंची और उसने लड़के से कहा, आप इन बच्चो को आप गुम्बारे क्यों दे रहे है।

prem ke sath diwangi love story

इस पर उस लड़के ने कहा, मुझे बच्चे काफी पसंद है। मै इस बच्चो को रोज कुछ ना कुछ देता हु। अगर मेरे पास कुछ नहीं होता है तो मैं इन्हे हिंदी कहानी सुनना दिया करता हुए। यह बात लड़की को बहुत अच्छी लगी। वह लड़की भी बच्चो से काफी प्रेम करती थी। अब वह दोनों बच्चो के लिए रोज कुछ उपहार लेकर आते थे। और बच्चो को कहानी सुनाते थे।

 

एक दिन लड़की ने लड़के से कहा, मेरे पास अब बच्चो को कहानी सुनने के लिए कहानी नहीं है। मैं जितना भी कहानी सुनना या पढ़ा था। बच्चो को सुना चुकी हु। इस पर बच्चे ने कहा, तुम कहानी के लिए  पर जाया करो वहाँ पर तुम्हे बहुत कहानी पढ़ने को मिलेगी।

अब उन्हें ऐसी ही बात होने लगी। एक दिन लड़के को समझ में आ गया की उसे प्रेम हो गया है। लेकिन लड़की को अभी नहीं पता था। समय के साथ अब वह दोनों काफी करीब आने लागे। प्रेम अँधा होता है। अब वह एक समय भी एक दूसरे के बिना नहीं रह पाते थे।

इसके बाद वह दोनों समझ गए कि उन्हें प्रेम हो गया है। अब उन्होंने इस बात को अपने घर वालो से कही। घर वाले भी इसको लेकर राजी हो गए। बस अब किया था। उन्हें एक दूसरे से प्रेम के बाद शादी भी हो गई।

Thankyou…🙏🙏

Leave a Comment