उत्तरणी कौथिक, Uttrani Kautik Hindi Lyrics

Rate this post

Uttrani Kautik Hindi Lyrics

गीत उत्तरणी कौथिक
भाषा कुमाउनी
गायक पप्पू कार्की और मीना राणा
गीतकार पप्पू कार्की
संगीतकार संजय कुमोला

 

Uttrani Kautik Hindi Lyrics

उत्तरणी कौथिक लगी रौ
उत्तरणी कौथिक लगी रौ
सरयू का बगड़ में
तेले आयाँ मेले औंलो
बागनाथ मंदिर में जौंलो
मेरी सरुली
ओ मेरी सरू मेरी सरुली
मेरी सरुली
ओ मेरी सरू मेरी सरुली

उत्तरणी कौथिक लागी छो
उत्तरणी कौथिक लागी छो
सरयू का बगड़ में
तेले आयाँ मेले औंलो
बागनाथ मंदिर में जौंलो
म्यारा दीवाना
ओ म्यारा देवू म्यारा दीवाना
म्यारा दीवाना
ओ म्यारा देवू म्यारा दीवाना

धनपुरा धनपुरिया आला
सौरा का सौरयाला
अल्मोड़ा का अल्मोडिया
द्वारहटा धुर्याला
धनपुरा धनपुरिया आला
सौरा का सौरयाला
अल्मोड़ा का अल्मोडिया
द्वारहटा धुर्याला
तू लिबी रे आये यूगु तें माला
मेरी सरुली
मेरी सरुली
ओ मेरी सरू मेरी सरुली

बागश्वर बजार देवू रौनक देखोंला
हथ में हाथ धरी दगडे घुमोला
बागश्वर बजार देवू रौनक देखोंला
हथ में हाथ धरी दगडे घुमोला
नुमाइश द्येख चरखी में बैठला
म्यारा दीवाना
नुमाइश द्येख चरखी में बैठला
म्यारा दीवाना

तू चूडिया कौथिक की हम निशाणी ल्योंला
तू मिकें रुमाल देली में मुनेडी द्योंलो
तू चूडिया कौथिक की हम निशाणी ल्योंला
तू मिकें रुमाल देली में मुनेडी द्योंलो
गंगा का किनारा हो तक पैंटूलो
मेरी सरुली
मेरी सरुली
ओ मेरी सरू मेरी सरुली

बागनाथ ज्योत हनी दर्शन कर्योंला
जोड़ी जूच न टूटे कबे आशीष मंगूला
बागनाथ ज्योत हनी दर्शन कर्योंला
जोड़ी जूच न टूटे कबे आशीष मंगूला
जनम जनम हम संग रौंला म्यार दीवाना
जनम जनम हम संग रौंला म्यार दीवाना
Thankyou…..

Leave a Comment